वर्तमान अंक

रचनाएँ ऑनलाइन पढ़ने के लिए क्लिक करें

सूचना :

अंक 28 अक्तूबर-दिसंबर 2022 के लिए रचनाएँ आमंत्रित हैं.

वर्तमान अंक

संयुक्तांक 26-27 अप्रैल-सितम्बर 2022 का फुल पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए फोटो पर क्लिक करें.

फुल पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए फोटो पर क्लिक करें.

अनुक्रमणिका

संपादकीय 
मामूली चीजें वास्तव में मामूली नहीं होतीं डॉ. महेश सिंह
आलेख/शोध आलेख 
भारतीय संस्कृति एवं परंपरा के अवदान में मुस्लिम भक्त कवियों का योगदानडॉ. रवि कुमार गोंड़
आदिकालीन हिन्दी गीतकाव्यमोहन कुमार
सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ कृत ‘राम की शक्तिपूजा’ में युगीन यथार्थबोधसूरज रंजन
दिनकर की कविता में युगबोधराजेन्द्र परदेसी
कवि केदारनाथ सिंह : उत्तर कबीर और अन्य कविताएँडॉ. सुबोध कुमार सिंह
कल्पना और प्रतिरोधी स्वर से गुंजायमान स्वच्छंदतावादी कविताषैजू  के
हिंदी की व्यंग्य प्रधान ग़ज़लेडॉ. जियाउर रहमान जाफरी
कवि नरेन डॉ. सरगू कृष्णमूर्ति सरयूराम की काव्यभाषाडॉ. एंथनी अलवर
आदिवासी साहित्य में अस्तित्व की संवेदनाडॉ. नवीन कुमार
ईश्वर और बाज़ार : सामयिक सत्ता और राजनीति का संश्लेषित प्रतिबिंबशीलू अनुरागी
एजाजुल हक कृत ‘अँधेरा कमरा’ में अभिव्यक्त सामाजिक संवेदना बोधपूर्विका अत्री
एक कहानी यह भी : एक पुर्नपाठडॉ.  संध्या एस
स्वयं प्रकाश की कहानियों में पारिस्थितिक सजगताकनकलता ओ.
बाजारवाद के अतिक्रमण को कहती पंकज मित्र की कहानियाँडॉ. कुमारी उर्वशी
प्रतिरोध की संस्कृति और ‘छिन्नमस्ता नहीं मैं’ महत्वपूर्ण हस्तक्षेप’डॉ. चंद्रकला
‘अपवित्र आख्यान’ में चित्रित हिन्दू-मुस्लिम संबंधों की मिठास और खटासडॉ. श्रीजिना पी.पी.
अमृतलाल नागर के उपन्यास साहित्य में सांस्कृतिक चेतनाडॉ. मुदस्सिर अहमद भट्ट
बदलती पारिवारिक संरचना में वृद्ध जीवन की त्रासदी : रेहन पर रग्घूप्रीतिका.एन
हसीनाबाद : व्यवस्था की दारुण उपजडॉ. कपिलदेव प्रसाद निषाद
हिंदी के ललित-निबंध साहित्य में ‘सावन’ के लोकसंदर्भों का महत्वडॉ. गजेन्द्र भारद्वाज
बोड़ो आदिवासी समाज में महिलाओं की भूमिकासूर्जलेखा ब्रह्म
व्योमकेश दरवेश : आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी का पुण्य स्मरणअजय चन्द्रवंशी
अलख आज़ादी की : आज़ादी की अमर अभिव्यक्तिफ़ातिमत रंसीना
प्रवास की डायरी(1971) – बच्चन का प्रवास डायरी के आइने मेंमनोज शर्मा
दलित-चेतना, ‘ट्रेजडी के उन्मूलन’ का सपना और ‘मैं भंगी हूँ’डॉ. रविन्द्र गासो
अस्मितावादी विमर्श की पृष्ठभूमि का अवलोकनभारती
ओडिसा का ‘रज उत्सव’ और उसका शैक्षिक-वैज्ञानिक महत्वप्रदीप सिंह
साहित्य में किन्नर विमर्श : LGBTQ+ समुदायमिलन बिश्नोई
भारतीय समाज और स्त्री उद्यमिता : दशा एवं दिशालया .एन
महिलाओं के विरुद्ध साइबर अपराधडॉ. उर्मिला शर्मा
अनुवाद/ आलेख/शोध आलेख 
तकनीकी शब्द एवं अनुवाद में उनका प्रयोगप्रो. शकीला खानम
सिनेमा/ आलेख/शोध आलेख 
साहित्यिक फिल्म और भाषा (दामुल और दीक्षा के विशेष संदर्भ में)ज्ञान चन्द्र पाल
परिवार और प्रेम पर आधारित गुलज़ार का पटकथा लेखनसुनीता राम
हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत के आईने में सत्यजित राय की फ़िल्मेंविकास कुमार
कहानी 
अपना-अपना सलीबडॉ. रजनीकांत
पश्चाताप की अग्निराकेश कुमार तगाला
इंटरव्यूमाया मिश्रा
दर किरचेंराजेश क़दम
रिश्तों का मोलश्यामल बिहारी महतो
जीत झूठ कीविरेश
व्यंग्य 
आओ विकास करेंपूरन सरमा
कविताएँ/गीत/गजल   
निर्भया (लम्बी कविता)अनाम दास
धनंजय मल्लिक की कविताएँ 
परमजीत कुमार पंडित की कविताएँ 
मनोज कुमार मीणा की कविताएँ 
सतीश लोथे की कविताएँ 
पीयूष अवस्थी की गजलें 
पुस्तक समीक्षा 
बेहतरीन कथ्य एवं शिल्प की बेजोड़ कहानियाँदीपक गिरकर
मानव चेतना को झकझोरता व्यंग्य संकलन- भीड़ और भेड़िएसोनिया वर्मा
जात न पूछो साधू की….रविकांत
भावनाओं, संवेदनाओं और दार्शनिकता का सम्मिश्रण : आगे से फटा जूताअंजनी श्रीवास्तव